Team India के लिए रिकॉर्ड तोड़ दिन; विराट कोहली, केएल राहुल, कुलदीप यादव चमके

Team India KL Rahul Virat Kohli Kuldeep Yadav
टॉस जीत कर पाकिस्तानी कप्तान बाबर आज़म ने Team India को बल्लेबाज़ी का न्योता दिया लेकिन उसके बाद मेन इन ब्लू पूरे मैच ग्रीन टीम पर हावी रहे।

भारत के बल्लेबाजों और फिर गेंदबाज़ों ने पाकिस्तानी के खिलाफ एशिया कप सुपर फोर मैच में रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड तोड़े और विपक्षी टीम पर रनों के हिसाब से होने वनडे इतिहास में सबसे बड़ी जीत दर्ज़ की। टीम इंडिया (Team India) के 356/2 के जवाब में पाकिस्तानी क्रिकेट टीम आठ विकेट खो कर 32 ओवरों में सिर्फ 128 बना सकी। पाकिस्तानी पेसर्स हारिस रउफ और नसीम शाह चोट के कारण बल्लेबाज़ी करने नहीं आये।

सिर्फ भारत की अपने कट्टर प्रतिद्वंदी पर एक विशाल जीत ही नहीं, बल्कि रिकार्ड्स के हिसाब से भी यह वनडे मैच यादगार रहा। टॉस जीत कर पाकिस्तानी कप्तान बाबर आज़म ने रविवार (10 सितम्बर) को भारत को बल्लेबाज़ी का न्योता दिया लेकिन उसके बाद मेन इन ब्लू पूरे मैच ग्रीन टीम पर हावी रहे।

भारतीय सलामी जोड़ी – कप्तान रोहित शर्मा और युवा शुभमन गिल – और फिर विराट कोहली एयर केएल राहुल ने पाकिस्तानी तेज़ आक्रमण को कुंद और स्पिनर्स की चतुराई को धराशाई कर दिया। बाकी की कसर भारतीय बॉलर्स ने निकल दी।

Team India रिकॉर्ड बुक:

  • विराट कोहली और केएल राहुल की तीसरे विकेट की साझेदारी: 233* (193 बॉल); पाकिस्तान का कुल: 128। वनडे में विपक्षी टीम की साझेदारी और पाकिस्तान के कुल स्कोर के बीच 105 रनों का अंतर अब तक का सबसे बड़ा अंतर है।
  • टीम इंडिया (Team India) का 356/2 का स्कोर पाकिस्तान के खिलाफ वनडे में उसका संयुक्त सर्वोच्च स्कोर है। उन्होंने विशाखापत्तनम में 2005 की घरेलू श्रृंखला के दौरान 359/9 बनाए थे। 356 रन वनडे एशिया कप में किसी भी टीम द्वारा बनाया गया चौथा सबसे बड़ा स्कोर है।
  • विराट कोहली और केएल राहुल के बीच तीसरे विकेट के लिए साझेदारी वनडे एशिया कप में किसी भी विकेट के लिए सबसे अधिक है , जिसने 2012 में भारत के खिलाफ मोहम्मद हफीज और नासिर जमशेद (टीम पाकिस्तान) के बीच 224 रन की शुरुआती साझेदारी को पीछे छोड़ दिया।
  • कोहली और राहुल के बीच वनडे में किसी भी विकेट के लिए पाकिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया (Team India) की ओर से सबसे ज्यादा साझेदारी है, जो 1996 में सचिन तेंदुलकर और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच 231 रन से बेहतर है।
  • कोहली के वनडे में 13,024 रन हो गए हैं वह 13,000 एकदिवसीय रनों के साथ केवल पांचवें बल्लेबाज हैं और वहां तक ​​पहुंचने वाले सबसे तेज बल्लेबाज हैं। उन्होंने 13,000 के लिए केवल 267 वनडे पारियां ली हैं, जो पिछले सबसे तेज – तेंदुलकर (321) से 54 कम है। कोहली तेंदुलकर के 49 वनडे शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी करने से केवल दो वनडे शतक दूर हैं।

  • वनडे में 267 पारियों के बाद विराट कोहली के 13000+ रन और 47 शतक क्रिकेट इतिहास में सबसे ज्यादा हैं। किसी और बल्लेबाज़ ने अपनी पहली 267 वनडे पारियों में 11,000 रन और 30 से अधिक शतक भी नहीं बनाए हैं। कोहली 8,000, 9,000, 10,000, 11,000, 12,000 और अब 13,000 वनडे रन बनाने वाले सबसे तेज बल्लेबाज बन गए हैं।
  • कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडियम में वनडे में कोहली का चौथा लगातार शतक। दक्षिण अफ्रीका के हाशिम अमला किसी भी स्थान पर लगातार चार वनडे शतक लगाने वाले एकमात्र अन्य बल्लेबाज हैं, जो उन्होंने 2015 और 2017 के बीच सेंचुरियन के सुपरस्पोर्ट पार्क में बनाया था। अब इस लिस्ट में कोहली भी शामिल हो गए हैं।
  • वनडे एशिया कप में भी कोहली का यह चौथा शतक है। केवल पूर्व श्रीलंका कप्तान सनथ जयसूर्या (6) ने एशिया कप में कोहली से अधिक शतक बनाए हैं, जबकि कुमार संगकारा के भी चार शतक हैं। वनडे एशिया कप में कोहली के पिछले तीन शतक 2012 और 2014 संस्करणों में बने थे।
  • केएल राहुल का 2020 की शुरुआत से वनडे में नंबर 4 और उससे नीचे बल्लेबाजी करते हुए औसत है 64.68। उन्होंने इस दौरान नंबर 4 और नंबर 5 पर बल्लेबाजी करते हुए 21 पारियों में तीन शतक और सात अर्द्धशतक के साथ 1035 रन बनाए हैं।
  • पाकिस्तान के ख़िलाफ़ एशिया कप सुपर फोर मैच एकदिवसीय क्रिकेट में टीम इंडिया (Team India) द्वारा 50 ओवर बल्लेबाजी करते हुए केवल दो विकेट खोने के सिर्फ चौथा उदाहरण है। नामीबिया के खिलाफ 2003 विश्व कप खेल के बाद कोलंबो में भारत का पहला है। यह वनडे में 50 या उससे अधिक ओवर फेंकने के बाद केवल दो विकेट लेने का पाकिस्तान का तीसरा उदाहरण था।

  • बाएं हाथ के कलाई स्पिनर कुलदीप यादव वनडे में पाकिस्तान के खिलाफ पांच विकेट लेने वाले पांचवें भारतीय गेंदबाज बन गए। फखर जमान, आगा सलमान, इफ्तिखार अहमद, शादाब खान और फहीम अशरफ को आउट करने के साथ ही कुलदीप यादव ने एक ऐसी लिस्ट में अपना नाम लिखवा लिया जिसमे अब तक टीम इंडिया (Team India) के लिए सौरव गांगुली, अरशद अयूब, वेंकटेश प्रसाद और सचिन तेंदुलकर ही थे।