25 टॉप Pakistani Cricketers को पीसीबी के केंद्रीय अनुबंध में भारी फ़ायदा

मासिक रिटेनर्स में उल्लेखनीय वृद्धि के साथ Pakistani Cricketers को चार श्रेणियों में रखा जाएगा। श्रेणी ए वाले खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा परिश्रमिक मिलेगा।

पाकिस्तान के 25 वरिष्ठ, अनुभवी और राष्ट्रीय टीम में नियमित तौर पर खेलने वाले खिलाड़ियों (Pakistani Cricketers) की देश की क्रिकेट बोर्ड ने तीन साल के केंद्रीय समझौते के लिए पेशकश की है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने बुधवार (27 सितम्बर) को पुष्टि की कि उसने अपने वरिष्ठ खिलाड़ियों के साथ केंद्रीय समझौते,जो 1 जुलाई 2023 से 30 जून 2026 तक लागू रहेगा, पर सफलतापूर्वक बात की। अनुबंध के नियमों के अनुसार इन 25 क्रिकेटरों अंतराष्ट्रीय क्रिकेट कौंसिल (आईसीसी) से मिलने वाले राजस्व का भाग भी मिलेगा।

मासिक रिटेनर्स में उल्लेखनीय वृद्धि के साथ खिलाड़ियों (Pakistani Cricketers) को चार श्रेणियों में रखा जाएगा एवं आईसीसी से प्राप्त होने वाले राजस्व को मासिक पारिश्रमिक में शामिल किया जाएगा। खिलाड़ियों की मैच फीस में भी बड़ी बढ़ोतरी होगी: टेस्ट में 50%, वनडे में 25% और टी20ई में 12.5%। पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम, विकेटकीपर मोहम्मद रिजवान और स्टार तेज़ गेंदबाज़ शाहीन शाह अफरीदी को श्रेणी ए में रखा गया है। श्रेणी ए वाले खिलाड़ियों को सबसे ज्यादा परिश्रमिक मिलेगा।

श्रेणी ए: बाबर आजम, मोहम्मद रिजवान और शाहीन शाह अफरीदी (3 खिलाड़ी: 202%)

श्रेणी बी: ​​फखर जमान, हारिस रउफ, इमाम-उल-हक, मोहम्मद नवाज, नसीम शाह और शादाब खान (6 खिलाड़ी: 144 %)

श्रेणी सी: इमाद वसीम और अब्दुल्ला शफीक (2 खिलाड़ी: 135 %)

श्रेणी डी: फहीम अशरफ, हसन अली, इफ्तिखार अहमद, इहसानुल्लाह, मोहम्मद हारिस, मोहम्मद वसीम जूनियर, सईम अयूब, सलमान अली आगा, सरफराज अहमद, सऊद शकील, शाहनवाज दहानी, शान मसूद, उसामा मीर और जमान खान (14 खिलाड़ी: 127%)

पीसीबी ने 2022 के विपरीत, टेस्ट और लिमिटेड ओवर इंटरनेशनल के राष्ट्रीय अनुबंधों का विलय कर दिया है। यह निर्णय केंद्रीय अनुबंध समिति द्वारा मैच जीतने के संदर्भ में खिलाड़ियों (Pakistani Cricketers) का मूल्यांकन करने के तरीके के रूप में प्रस्तावित किया गया था और इसका उद्देश्य निष्पक्षता, पारदर्शी चयन प्रक्रिया को बढ़ावा देना था।

पीसीबी प्रबंधन समिति के अध्यक्ष जका अशरफ ने कहा, “मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि लंबी बातचीत के बाद पीसीबी ने खिलाड़ियों के साथ एक वित्तीय समझौता किया है। हमारा मानना ​​है कि हमारे खिलाड़ी पाकिस्तान क्रिकेट की सच्ची संपत्ति हैं और उनकी भलाई सुनिश्चित करना और उन्हें सर्वोत्तम संभव सेवाएं प्रदान करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है।”

“पूरा देश आगामी आईसीसी पुरुष विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए इन खिलाड़ियों के पीछे खड़ा है। हमें उनकी क्षमताओं पर भरोसा है और हमें विश्वास है कि वे अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन से देश को गौरवान्वित करेंगे,” जका अशरफ ने कहा।

पाकिस्तान के कप्तान बाबर आज़म ने भी नए अनुबंध का स्वागत किया। “यह ऐतिहासिक है। मैं बेहद खुश और संतुष्ट हूं कि हम पीसीबी के साथ एक समझौते पर पहुंचे हैं। यह एक लंबी और कई बार चुनौतीपूर्ण बातचीत प्रक्रिया रही है, लेकिन मेरा मानना ​​है कि हम दोनों पक्षों के लिए एक निष्पक्ष और लाभकारी समझौते पर पहुंचे हैं। मैं व्यक्तिगत रूप से इन वार्ताओं की देखरेख और सुविधा प्रदान करने के लिए अध्यक्ष ज़का अशरफ़ को अपना विशेष धन्यवाद देना चाहता हूँ। उन्होंने व्यक्तिगत रुचि ली और पाकिस्तान क्रिकेट के प्रति उनकी प्रतिबद्धता वास्तव में सराहनीय है। यह समझौता खिलाड़ियों के करियर और पाकिस्तान क्रिकेट में एक नए अध्याय का प्रतीक है। यह खेल के प्रति सभी खिलाड़ियों की कड़ी मेहनत और समर्पण का प्रमाण है और अब हम सभी आईसीसी पुरुष विश्व कप के लिए तैयार हैं।”

क्रिकेट जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

घरेलू क्रिकेट खेलने वाले केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ियों (Pakistani Cricketers) को अंतरराष्ट्रीय मैच फीस का 50% भुगतान किया जाएगा। इसके अलावा, खिलाड़ियों को प्रत्येक सीज़न में दो विदेशी लीग खेलने की अनुमति होगी।

अनुबंध के कार्यकाल के लिए इसका वित्तीय मॉडल लॉक कर दिया जाएगा। हालाँकि हर 12 महीने के बाद खिलाड़ियों के प्रदर्शन की समीक्षा की जाएगी। पिछला केंद्रीय अनुबंध 30 जून 2023 को खत्म हो गया और नया वाला 1 जुलाई, 2023 से प्रभावी माना जाएगा।