बेंगलुरु कंपनी के सीईओ, एमडी की हत्या में पूर्व कर्मचारी सहित 3 गिरफ्तार

एक पुलिस अफसर ने कहा, "फेलिक्स ने अपनी खुद की कंपनी स्थापित की थी और वह बिजनेस में पनींद्र का प्रतिद्वंद्वी था। फेलिक्स पनींद्र के बिजनेस की सफलता से नाराज था और प्रतिस्पर्धा से खुश नहीं था और उसने ऐसा किया।"

बेंगलुरू पुलिस (Bengaluru Police) ने शहर की एक निजी कंपनी के प्रबंध निदेशक (एमडी) और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) की हत्या के मामले में बुधवार (जुलाई 11) को तीन लोगों को गिरफ्तार किया।

पुलिस ने गिरफ्तार लोगों की पहचान फेलिक्स, विनय रेड्डी और संतोष के रूप में की है। पुलिस ने कहा कि मंगलवार को तीनों ने एयरोनिक्स मीडिया प्राइवेट लिमिटेड के परिसर में प्रवेश किया और कंपनी के सीईओ वीनू कुमार और एमडी सुब्रमण्यम फणींद्र की हत्या कर दी।

पुलिस सूत्र के मुताबिक, आरोपियों को तुमकुरु जिले के कुनिगल के पास से पकड़ा गया। अमृतहल्ली पुलिस ने पांच टीमों का गठन कर टावर डंप और कॉल डेटा रिकॉर्ड्स (सीडीआर) के आधार पर आरोपियों को गिरफ्तार किया।

इससे पहले, पुलिस ने कहा था कि फेलिक्स कंपनी का पूर्व कर्मचारी था। “फेलिक्स और फणींद्र ने एक साथ काम किया था। उन्होंने अपनी खुद की कंपनी स्थापित की थी और व्यवसाय में प्रतिद्वंद्वी थे। मंगलवार शाम करीब चार बजे फेलिक्स ने फणींद्र और वीनू कुमार पर हमला कर दिया और धारदार हथियार से वार कर उनकी हत्या कर दी. हत्या के बाद वह मौके से भाग गया,” पुलिस ने कहा।

“फेलिक्स और उसके साथी अपने साथ हथियार ले जा रहे थे जिनमें चाकू और छुरे शामिल थे। जैसे ही विनु कुमार ने चीख सुनी, वह फणींद्र के चैंबर में घुस गया और उसे बचाने की कोशिश की लेकिन फेलिक्स और उसके आरोपियों ने उस पर भी हमला कर दिया। जिस वक्त फणींद्र की हत्या हुई उस वक्त ऑफिस में करीब 10 कर्मचारी मौजूद थे. सीईओ और एमडी को चाकू मारने के बाद, आरोपी ने अन्य कर्मचारियों को धमकी दी और मौके से भाग गए,” पुलिस ने कहा।

यह घटना उत्तरी बेंगलुरु के अमृतहल्ली में पंपा एक्सटेंशन स्थित एक आवासीय क्षेत्र में हुई।

कार्यालय में हमला

यह घटना मंगलवार (जुलाई 11) शाम लगभग 4.30 बजे हुई जब एरोनिक मीडिया प्राइवेट लिमिटेड का एक पूर्व कर्मचारी फेलिक्स और उसके दो साथी उत्तरी बेंगलुरु में एरोनिक मीडिया फर्म के कार्यालय, अमृतहल्ली में पम्पा एक्सटेंशन के 6 वें क्रॉस पर एक आवासीय इलाके में घुस गए। डीसीपी नॉर्थईस्ट लक्ष्मी प्रसाद ने कहा, ऑफिस के एक केबिन में करीब 30 मिनट तक बातचीत की और फिर एमडी और सीईओ पर ‘नुकीली चीज’ से हमला किया। अस्पताल ले जाते समय सुब्रमण्यम और कुमार दोनों की मौत हो गई। इसके बाद, मुख्य साजिशकर्ता फेलिक्स परिसर की दीवार से कूदकर इमारत के पिछले रास्ते से भाग गया, पुलिस ने कहा।

एक पुलिस अफसर ने कहा, “फेलिक्स ने अपनी खुद की कंपनी स्थापित की थी और वह बिजनेस में पनींद्र का प्रतिद्वंद्वी था। फेलिक्स पनींद्र के बिजनेस की सफलता से नाराज था और प्रतिस्पर्धा से खुश नहीं था और उसने ऐसा किया।”

आरोपी फेलिक्स ने एक इंस्टाग्राम स्टेटस पोस्ट किया था जिसमें लिखा था, “इस ग्रह के लोग हमेशा चापलूस और धोखेबाज होते हैं। इसलिए मैंने इस ग्रह के लोगों को चोट पहुंचाई है। मैंने केवल बुरे लोगों को चोट पहुंचाई है। मैंने कभी किसी अच्छे लोगों को चोट नहीं पहुंचाई है।”