क्या यह Team India घर पर विश्व कप 2023 जीत पायेगी?

Team India जो वनडे विश्व कप 2023 के लिए चुनी जाएगी उसमे कुछ खिलाडियों का स्थान तो पक्का है, लेकिन कई की उपलब्धता और फिटनेस पर अभी भी सवालिया निशान हैं।

एकदिवसीय विश्व कप 2023 शुरू होने में दो महीने से भी कम समय बचा है। इस टूर्नामेंट का पहले मैच वर्त्तमान चैंपियन इंग्लैंड और न्यूज़ीलैण्ड के बीच नरेंद्र मोदी स्टेडियम, अहमदाबाद में 5 अक्टूबर को खेला जायेगा जबकि भारत (Team India) अपना पहला मैच ऑस्ट्रेलिया की ख़िलाफ़ एमए चिदंबरम स्टेडियम, चेन्नई में खेलेगा।

भारतीय टीम (Team India) जो वनडे विश्व कप 2023 के लिए चुनी जाएगी उसमे कुछ खिलाडियों का स्थान तो पक्का है, लेकिन कई की उपलब्धता और फिटनेस पर अभी भी सवालिया निशान हैं। न्यूज़फर्स्ट की टीम ने विश्व कप 2023 के लिए 15 सदस्यों की भारतीय टीम (Team India) चुनी है यह मान कर कि क्रिकेटरों का एक पूरा समूह उपलब्ध है।

ओपनर: रोहित शर्मा, शुभमन गिल, ईशान किशन (विकेटकीपर)

कप्तान रोहित शर्मा निश्चित हैं हालाँकि उन्होंने कुछ दिन पहले ही कहा कि कोई भी टीम में अपना स्थान सुरक्षित नहीं मान सकता। भारतीय टीम द्वारा इस साल वनडे में अनुभवी शिखर धवन के जगह शुभमन गिल को चुनकर यह तय कर दिया गया है की अब नए प्रतिभाओं पर दांव खेलेगा।

आईसीसी इवेंट्स के दिग्गज खिलाड़ी धवन को टाइमिंग और अपने स्ट्राइक रेट के साथ संघर्ष करना पड़ा है और 2022 में उनका स्ट्राइक रेट 74.21 रहा, जबकि गिल ने आक्रामक खेल दिखाया है। 2023 में गिल की शानदार शुरुआत ने धवन के बाहर होने की लगभग पुष्टि कर दी है, और उनके हालिया खराब दौर के बावजूद, उन्हें पहले मैच में रोहित के साथ दूसरा सलामी बल्लेबाज होना चाहिए।

वेस्टइंडीज में लगातार तीन अर्धशतकों के बाद ईशान किशन ने अपनी जगह पक्की कर ली है। वेस्टइंडीज के धीमी विकेटों पर उन्होंने ने अपने खेल को ढाला फिर भी तेज़ गति से रन बनाया। उन्होंने स्थिति के अनुसार परिपक्व बल्लेबाजी की, और वह न केवल बैकअप ओपनर होंगे बल्कि टीम में एक बैकअप विकेटकीपर भी होंगे।

Team India मध्यक्रम: विराट कोहली, श्रेयस अय्यर, केएल राहुल (विकेटकीपर)

विराट कोहली को न चुनने का सुझाव आज के समय में जो देगा उसका क्रिकेट से कोई नाता नहीं होगा। भले ही कोहली फॉर्म में वापसी जारी है और भारतीय क्रिकेट फैंस प्रार्थना कर रहे होंगे की घरेलु मैदानो पर उनका बल्ला खूब बोलेगा। श्रेयस अय्यर और केएल राहुल पूरी फिटनेस हासिल कर सकते हैं और साथ ही शानदार वापसी भी कर सकते हैं। दोनों थोड़े चोटिल हैं लेकिन अय्यर और राहुल मध्य क्रम के मज़बूत स्तम्भ भी हैं।

अय्यर न केवल बीच के ओवरों में स्पिनरों का सामना कर सकते हैं, बल्कि शीर्ष क्रम के पतन को रोकने के लिए भी उन पर भरोसा किया जा सकता है। नंबर 5 पर राहुल का खेल शानदार रहा है। इस स्थान पर 18 मैचों में 53 की औसत से रन बनाये हैं जिसमे एक शतक और सात अर्द्धशतक शामिल हैं।

यदि दोनों फिट होने में असमर्थ हैं, तो संजू सैमसन और सूर्यकुमार यादव को उनकी जगह लेने की उम्मीद है। बेहद प्रतिभाशाली सैमसन अक्सर शॉट चयन और स्वभाव के साथ संघर्ष करते हैं, जबकि यादव ने हाल ही में स्वीकार किया कि उनके वनडे नंबर “वास्तव में खराब” हैं।

Team India आल राउंडर: रवींद्र जड़ेजा, हार्दिक पंड्या, शार्दुल ठाकुर, अक्षर पटेल

हालाँकि अक्षर पटेल और रवींद्र जड़ेजा एक जैसे गेंदबाज हैं, लेकिन अक्षर ने हाल ही काफी मटक खेला है और उन्हें आर अश्विन से आगे मन जा सकता है। अश्विन ने आखिरी बार जनवरी 2022 में एकदिवसीय मैच खेला था, और अगर 2021 टी20 विश्व कप की पुनरावृत्ति नहीं होती जब ऑफ स्पिनर ने चार साल बाद वापसी की, तो अक्षर को जडेजा के बैकअप के रूप में चुना जाएगा। उन्होंने हाल के वर्षों में अपनी बल्लेबाजी में भी सुधार किया है, यहां तक कि हाल ही में वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टी20I में विशेषज्ञ नंबर 7 के रूप में भी खेला।

हार्दिक पंड्या ने टीम संतुलन के संबंध में भारत के कई सवालों का जवाब दिया है। बीच के ओवरों में विकेट लेने और महत्वपूर्ण साझेदारियां तोड़ने की आदत, शार्दुल ठाकुर के दूसरे सीम ऑलराउंडर के रूप में उनकी जगह पक्की करता है । उनकी बल्लेबाजी भी एक बोनस है।

Team India स्पिनर्स: कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल

दोनों ने खुद को चुना और भारत में अभी कोई अन्य फ्रंटलाइन स्पिनर नहीं है। कुलदीप यादव शानदार फॉर्म में हैं, जिसके चलते उन्होंने अपनी गेंदबाजी में कुछ बदलाव के साथ वापसी की है। 2022 की शुरुआत से इस प्रारूप में उनका औसत 20.91 है और उन्हें अंतिम एकादश में चहल से ऊपर रखना चाहिए।

Team India तेज़ गेंदबाज़: जसप्रित बुमराह, मोहम्मद सिराज, मोहम्मद शमी

भारत सभी तीन तेज गेंबाज़ों के साथ खेलना चाहेगा, लेकिन इससे बल्लेबाजी में थोड़ी कमी हो जाएगी, जो नंबर 7 पर ही समाप्त हो जाएगी। चूंकि हार्दिक भी नियमित रूप से गेंदबाजी करते हैं, इसलिए तीनों तेज गेंदबाजों के एक साथ खेलने की संभावना, जब तक कि कोलकाता या धर्मशाला जैसे बहुत अधिक उछाल वाले विकेटों पर न हो, कम है।