Hardik Pandya ने वेस्टइंडीज टी20 सीरीज में भारत की करारी हार के बाद कहा, ‘हारना कभी-कभी अच्छा होता है’

Hardik Pandya की टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज के खिलाफ लगातार दो मैच जीतकर सीरीज में वापसी की थी। लेकिन रविवार को धीमी पिच पर फैसला उल्टा पड़ गया।

द्विपक्षीय श्रृंखला में मेन इन ब्लू के टी20ई कप्तान के रूप में हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) का विजयी सफर रविवार (13 अगस्त) को समाप्त हो गया। वेस्टइंडीज के खिलाफ पांचवें टी20आई में रोमारियो शेफर्ड की कप्तानी में वेस्टइंडीज ने भारत को हरा दिया और स्टार ऑलराउंडर ने कप्तान के रूप में अपनी पहली टी20आई श्रृंखला गंवा दी। फ्लोरिडा में भारत के खिलाफ मेजबान वेस्टइंडीज ने आठ विकेट से जीत दर्ज करके पांच मैचों की श्रृंखला 3-2 से अपने नाम कर ली।

हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) की टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज के खिलाफ लगातार दो मैच जीतकर सीरीज में वापसी की थी। लेकिन रविवार को धीमी पिच पर पहले बल्लेबाजी करने का पंड्या का फैसला उल्टा पड़ गया और भारत ने 20 ओवर नौ विकेट खो कर सिर्फ 165 रन बनाये।

टी20 सीरीज के निर्णायक मैच में 18 गेंदों में 14 रन बनाने वाले पंड्या (Hardik Pandya) ने कहा, “अगर आप देखें, तो हम 10 ओवर के बाद उस अवधि में हार गए। जब से मैं आया, मैं इसका फायदा नहीं उठा पाया और मैंने अपना समय लिया और फिनिश नहीं कर सका।” सीरीज के निर्णायक मैच में भारतीय मध्यक्रम को भी रन बनाने के लिए संघर्ष करना पड़ा।

“मेरा मानना है कि एक टीम के रूप में हमें खुद को चुनौती देनी होगी। ये सभी खेल ऐसे खेल हैं जहां हमें सीखना है। हमने एक टीम के रूप में बात की है कि जब भी हम कठिन रास्ता चुन सकते हैं हम लेंगे। अंत में, एक श्रृंखला यहां या वहां होगी कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन लक्ष्य के प्रति प्रतिबद्धता महत्वपूर्ण है।”

Hardik Pandya: ‘कभी-कभी हारना अच्छा होता है’

वेस्टइंडीज के खिलाफ श्रृंखला के निर्णायक मैच में भारत की बल्लेबाज़ी का नेतृत्व करते हुए सूर्यकुमार यादव ने शानदार अर्धशतक लगाया, जबकि युवा तिलक वर्मा ने 18 गेंदों में 27 रन बनाए। सूर्यकुमार की 45 गेंदों में 61 रनों की तेज पारी ने भारत को 20 ओवरों में 165/9 पर पहुंचा दिया।

“यह एक लंबा रास्ता है। हमारे पास एकदिवसीय विश्व कप आने वाला है। और कभी-कभी हारना अच्छा होता है। आपको बहुत कुछ सीखने को मिलता है। और सभी लड़कों के लिए विशेष उल्लेख। उन्होंने मज़बूत चरित्र दिखाया। जीतना और हारना प्रक्रिया का एक हिस्सा है और हम यह सुनिश्चित करने जा रहे हैं कि हम उससे सीखें,” पंड्या ने कहा।

भारत के 166 के लक्ष्य में वेस्टइंडीज के लिए ब्रैंडन किंग ने 85 रनों की मैच जिताऊ पारी खेली और अपनी टीम को 5वें टी20 मैच में 8 विकेट से जीत दिला दी। किंग्स के शानदार नाबाद 85 और पूरन के शानदार 47 रनों की बदौलत वेस्टइंडीज ने दो ओवर शेष रहते ही अपना लक्ष्य पूरा कर लिया।

हाल ही में समाप्त हुई टी20 सीरीज में भी पांड्या (Hardik Pandya) के गेंदबाजी फैसलों पर उनके आलोचकों ने सवाल उठाए थे। स्टार ऑलराउंडर को कोई विकेट नहीं मिला और तेज गेंदबाज ने 5वें टी20I में अपने ओवरों का पूरा कोटा भी पूरा नहीं किया।

पंड्या ने बताया, “फिलहाल मैं ऐसा ही महसूस कर रहा हूं, मैं ज्यादा योजना नहीं बनाता। अगर मैं कोई स्थिति देखता हूं, तो जो भी मेरा मन कहता है मैं उसका पालन करता हूं।” भारतीय ऑलराउंडर को आयरलैंड के खिलाफ आगामी टी20 सीरीज के लिए आराम दिया गया है । उनकी अनुपस्थिति में तेज़ गेंदबाज़ जसप्रित बुमरा अपनी वापसी श्रृंखला में भारतीय टीम का नेतृत्व करेंगे।

“टीम के पास एक बड़ा जिग़र है। यह कुछ ऐसा है जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में बहुत महत्वपूर्ण है। आने वाले हर युवा में विश्वास है। यह कुछ ऐसा है जो मैं अब अक्सर देखता हूं। उन्हें बधाई, वे आए और जिम्मेदारी ली। एक कप्तान के रूप में मैं इससे ज्यादा खुश नहीं हो सकता,” पंड्या (Hardik Pandya) ने निष्कर्ष निकाला।