David Warner ने सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ा , वनडे वर्ल्ड कप के पहले दी चेतावनी

David Warner Australia
यह David Warner का 20वां एकदिवसीय शतक था जो उन्होंने एक सलामी बल्लेबाज के रूप में बनाया, जबकि कुल मिलाकर यह उनका 46वां अंतरराष्ट्रीय शतक था।

डेविड वार्नर (David Warner) ने शनिवार (9 सितम्बर) को मैंगांग ओवल, ब्लोमफोंटेन में दूसरे वनडे में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सनसनीखेज शतक के साथ इतिहास रच दिया। दक्षिण अफ्रीका द्वारा होने घरेलु मैदान पर पहले गेंदबाजी करने के फैसले को गलत साबित करते हुए इस विस्फोटक सलामी बल्लेबाज ने मेज़बान बॉलर्स के ज़बरदस्त धुनाई करते हुए 93 गेंदों पर 106 रन बनाए जिसके कारण ऑस्ट्रेलिया ने 392/8 का विशाल स्कोर बनाया।

इस शतक के साथ डेविड वार्नर (David Warner) ने महान सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ दिया और सलामी बल्लेबाज के रूप में सबसे अधिक अंतरराष्ट्रीय शतक लगाने वाले खिलाड़ी बन गए। यह वार्नर का 20वां एकदिवसीय शतक था और यह सब उन्होंने एक सलामी बल्लेबाज के रूप में बनाया, जबकि कुल मिलाकर यह उनका 46वां अंतरराष्ट्रीय शतक था।

तेंदुलकर अब सलामी बल्लेबाज के रूप में 45 अंतरराष्ट्रीय शतकों के साथ दूसरे स्थान पर आ गए हैं, जबकि वेस्टइंडीज के अनुभवी सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल पारी की शुरुआत करते हुए 42 शतकों के साथ तीसरे स्थान पर हैं।

तेंदुलकर ने अपने पूरे करियर में अलग-अलग स्थानों पर बल्लेबाज़ी की थी। उनकी करियर की शुरुआत मध्यक्रम के बल्लेबाज के रूप में हुई थी और कुछ वर्षों के बाद उन्हें वनडे में सलामी बल्लेबाज के रूप में पदोन्नत किया गया। इस बीच, उन्होंने अपने टेस्ट करियर का अधिकांश हिस्सा नंबर 4 बल्लेबाज के रूप में खेला।

Australia vs South Africa Second ODI

दक्षिण अफ्रिक के खिलाफ 12 चौके और तीन छक्के लगाने वाले वार्नर के अलावा, मार्नस लाबुशेन ने भी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तेज़ तर्रार शतक लगाया। लेबुशेन ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के आठ विकेट पर 392 रन के कुल स्कोर में 124 रन बनाए। इसके लिए उन्होंने सिर्फ 99 गेंदें खेली एवं 19 चौके और एक छक्का लगाया।

डेविड वार्नर (David Warner) और लाबुस्चगने ने तीसरे विकेट के लिए 124 गेंदों पर 151 रन की साझेदारी की, जिसमें वार्नर ने 85 गेंदों पर अपना 20वां एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय शतक पूरा किया। लेबुशेन और भी तेज थे, उन्होंने 80 गेंदों पर अपना दूसरा एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय शतक पूरा किया। उनके दोनों शतक उनके जन्म के देश (दक्षिण अफ्रीका) में बने हैं। उन्होंने मार्च 2020 में पोटचेफस्ट्रूम में 108 रन बनाए।

डेविड वार्नर (David Warner) और ट्रैविस हेड ने 72 गेंदों में 109 रन की शुरुआती साझेदारी के दौरान दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाजों की जमकर धुनाई की, जिसमें हेड ने 36 गेंदों में नौ चौकों और तीन छक्कों की मदद से 64 रन बनाए। इस जोड़ी ने दस ओवर के पावर प्ले में 102 रन बनाए।

यह 50 ओवरों के प्रारूप में ऑस्ट्रेलिया का तीसरा सबसे बड़ा स्कोर था और दक्षिण अफ्रीका द्वारा दिया गया चौथा सबसे बड़ा स्कोर था।

दक्षिण अफ्रीका के लिए, तबरेज़ शम्सी चार विकेट लेने में सफल रहे और गेंदबाजों में से एक थे, जबकि कैगिसो रबाडा ने दो विकेट लिए।

लक्ष्य का पीछा करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने भी धमाकेदार शुरुआत की और क्विंटन डी कॉक ने अपने इरादे साफ कर दिए। शुरू के ओवरों में दक्षिण अफ्रीका करीब नौ रन प्रति ओवर से अपने लक्ष्य की ओर बढ़ रही थी।

क्विंटन डी कॉक (45) के दसवें ओवर में आउट होने के बाद मेज़बान टीम ने जल्दी जल्दी चार विकेट खो दिए। हालाँकि रन रेट अच्छा था लेकिन कोई बड़ी साझेदारी न होने का खामियाज़ा दक्षिण अफ्रीका को भुगतना पड़ा। तेज़ी से रन बनाने के चक्कर में उसके बल्लेबाज़ आउट होते गए।

कप्तान तेम्बा बावुमा, हेनरिक क्लासेन और डेविड मिलर ने आशा जगाई लेकिन तीनो एक बड़ा स्कोर बनाने के पहले हो आउट हो गए। दक्षिण अफ्रीका का कोई भी बल्लेबाज़ 50 का स्कोर भी नहीं पार कर सका और बाद में कसी हुई ऑस्ट्रेलिआई गेंदबाज़ी के कारण पूरी टीम 42वें ओवर में 269 पर आल आउट हो गयी।

ऑस्ट्रेलिया ने दूसरा वनडे 123 रनों से जीत पांच मैचों की श्रृंखला में 2-0 की बढ़त ले ली है।