Rahul Gandhi Amethi से स्मृति ईरानी के खिलाफ? कांग्रेस यूपी प्रमुख अजय राय के बदले सुर

Rahul gandhi Amethi
Rahul Gandhi , जो 2004 से तीन बार गाँधी पारिवारिक गढ़ Amethi से सांसद चुने गए थे, 2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा की स्मृति ईरानी से 55,000 से भी अधिक वोटों से हार गए थे।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रमुख अजय राय ने शुक्रवार (18 अगस्त) को यह बयान दिया कि राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) लोकसभा चुनाव 2024 में एक बार फिर से केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कि नेता स्मृति ईरानी के खिलाफ अमेठी (Amethi) सीट से चुनाव मैदान में उतरेंगे। लेकिन कुछ घंटे बाद ही अजय राय ने अपने वक्तव्य में संसोधन करते हुए यह कहा कि अमेठी (Amethi) के लोग चाहते हैं की राहुल गाँधी यहां से 2024 में चुनाव लड़ें।

“बिलकुल राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) अमेठी से लड़ेंगे। अमेठी के लोग यहां आये हैं,” अजय राय ने एक सवाल के जवाब में 18 अगस्त को कहा। हालाँकि, जब कुछ घंटों बाद उनसे वही सवाल पूछा गया, तो राय का जवाब थोड़ा अलग था। उन्होंने कहा, ”कांग्रेस कार्यकर्ता और अमेठी के लोग मांग कर रहे हैं कि वे अपनी गलती सुधारें और राहुल राहुल गांधी के लिए बड़ी जीत सुनिश्चित करें।”

जब उनसे फिर से पूछा गया कि क्या राहुल गांधी (Rahul Gandhi) सच में उत्तर प्रदेश के अमेठी (Amethi) से चुनाव लड़ना चाहते हैं, तो उन्होंने दोहराया, “यह लोगों और कार्यकर्ताओं की मांग है।”

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) , जो 2004 से तीन बार गाँधी पारिवारिक गढ़ अमेठी (Amethi) से सांसद चुने गए थे, 2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा की स्मृति ईरानी से 55,000 से भी अधिक वोटों से हार गए थे। उन्होंने केरल के वायनाड लोकसभ सीट से भी चुनाव लड़ा था और वहां से जीत हासिल कर संसद सदस्य बने।

अजय राय ने यह भी दावा किया था की स्मृति ईरानी घबरा गयीं हैं क्यूंकि उन्होंने 2019 के चुनाव के समय अमेठी की जनता से किये हुए वादे पूरे नहीं किये हैं। “उन्होंने कहा था की 13 रुपये किलो चीनी मिलेगा, आप कमल का बटन दबाइये। वो 13 रुपये किलो का चीनी कहाँ गया,” राय ने पूछा था।

इससे पहले दिन में, राय – जिन्होंने 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों में वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ा और भारी अंतर से हारे थी – ने यह भी कहा था, “अगर प्रियंका गांधी चाहती हैं कि वह वाराणसी से चुनाव लड़ना चाहती हैं, तो कांग्रेस का हर एक कार्यकर्ता पूरे दिल से उसके लिए काम करेगा।”

राय को गुरुवार (17 अगस्त) कांग्रेस उत्तर प्रदेश का अध्यक्ष नियुक्त दलित नेता बृजलाल खाबरी के स्थान पर नियुक्त किया गया।