Super Blue Moon आज, शनि के साथ आसमान को रोशन करेगा

अगस्त महीने की दूसरी पूर्णिमा, जिसे ब्लू मून भी कहा जाता है, साल 2023 का पहला Super Blue Moon भी है।

अगस्त 2023 चंद्रमा के लिए बहुत ख़ास है। इस महीने भारत के चंद्रयान-3 मिशन ने चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतर कर इतिहास रचा और इसी महीने में दो ब्लू मून हो रहे। साल 2023 की सबसे महत्वपूर्ण चंद्र घटना इस महीने दूसरी बार हो रही है, जिसे सुपर ब्लू मून (Super Blue Moon) भी कहा जाता है। आपके स्थान के आधार पर, आप 30 या 31 अगस्त को सुपर ब्लू मून देख सकते हैं।

अपने नाम के बावजूद, सुपर ब्लू मून (Super Blue Moon) के दौरान चंद्रमा नीला दिखाई नहीं देगा। ब्लू मून शब्द एक महीने के भीतर होने वाली दूसरी पूर्णिमा के लिए इस्तेमाल होता है। इस महीने की दूसरी पूर्णिमा, जिसे ब्लू मून भी कहा जाता है, साल का पहला सुपर ब्लू मून भी है, क्योंकि चंद्रमा पृथ्वी से सबसे करीब 3,57,344 किमी की दूरी पर होगा। इस नज़ारे को और बेहतर बनाने के लिए, शनि चंद्रमा के ऊपरी भाग से लगभग पाँच डिग्री ऊपर एक चमकीले बिंदु के रूप में भी दिखाई देगा।

भारत में Super Blue Moon कब देखा जाए?

पूरे भारत में ब्लू मून 30 अगस्त को लगभग 9:30 बजे शाम में दिखाई देगा। यह 31 अगस्त को सुबह 7:30 बजे तक सुपर ब्लू मून (Super Blue Moon) की स्थिति में होगा। सुपर ब्लू मून के सबसे बेहतरीन दृश्य के लिए 31 अगस्त सुबह 6:07 बजे का समय सबसे उपयुक्त है।

सुपर ब्लू मून का कारण क्या है?

पृथ्वी का एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह, चंद्रमा, हमारे ग्रह के चारों ओर एक अण्डाकार कक्षा में चक्कर लगता है। जब चंद्रमा पृथ्वी के अपने निकटतम बिंदु पर पहुंचता है, जिसे पेरिगी के रूप में जाना जाता है, तो इसे सुपर मून के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। पृथ्वी और चंद्रमा के बीच की दूरी कम होने के कारण, यह नियमित चरणों की तुलना में बड़ा, पूर्ण और चमकीला दिखाई देता है।

जहां तक ‘ब्लू मून’ लेबल की बात है, यह तब दिया जाता है जब एक ही महीने में दो पूर्ण चंद्रमा होते हैं। इस शब्द का चंद्रमा के रंग से कोई संबंध नहीं है। नियमित पूर्णिमा की तुलना में, सुपर ब्लू मून (Super Blue Moon) लगभग 14 प्रतिशत बड़ा दिखाई देता है।

अमरीका की नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) के अनुसार, ब्लू मून या सुपर मून को हर साल कुछ बार देखना अपेक्षाकृत आम है, जबकि सुपर ब्लू मून, जहां दोनों घटनाएं मेल खाती हैं, एक दशक में लगभग एक बार ही घटित होती हैं। इसलिए, अगस्त 2023 की दूसरी पूर्णिमा, जिसे ब्लू मून के रूप में भी जाना जाता है, 30 अगस्त को दिखाई देगी। अगले सुपर ब्लू मून की जनवरी 2037 तक उम्मीद नहीं है।