Shaheen Shah Afridi, मिशेल स्टार्क में कौन है ज्यादा खतरनाक? रोहित शर्मा ने दिया यह जवाब

रोहित शर्मा ने वनडे में Shaheen Shah Afridi का ज्यादा सामना नहीं किया है, सिर्फ एक बार 2018 एशिया कप में।

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा को जब दो बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ – पाकिस्तान के शाहीन शाह अफरीदी (Shaheen Shah Afridi) और ऑस्ट्रेलिया के मिशेल स्टार्क(Mitchell Starc) – के बीच अधिक खतरनाक और मुश्किल गेंदबाज चुनने का कहा गया तो उन्होंने बड़ी सफाई से इस सवाल का जवाब दिया। रोहित शर्मा ने कहा की अफरीदी (Shaheen Shah Afridi) और स्टार्क क्रिकेट के मैदान पर समान रूप से खतरा हैं।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अफरीदी (Shaheen Shah Afridi) और स्टार्क दोनों का सामना कर चुके रोहित ने कहा कि वह उनमें से किसी का भी सामना करना पसंद नहीं करेंगे, खासकर नई गेंद से। इस भारतीय बल्लेबाज ने कहा कि दोनों गेंद को तेजी से स्विंग करा सकते हैं और बल्लेबाजों को परेशान कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि दोनों गेंदबाज बहुत ही उच्च स्तरीय और काफी खतरनाक हैं।

उन्होंने कहा, “कोई नहीं… दोनों ही गुणवत्तापूर्ण हैं, नई गेंद से काफी खतरनाक हैं, गेंद को काफी तेजी से स्विंग करा सकते हैं, इसलिए मैं कुछ नहीं कहूंगा।”

रोहित ने वनडे में शाहीन शाह अफरीदी (Shaheen Shah Afridi) का ज्यादा सामना नहीं किया है, सिर्फ एक बार 2018 एशिया कप में।उस मैच में पाकिस्तानी तेज गेंदबाज कुछ ख़ास नहीं करा पाया था। स्टार्क के खिलाफ बल्लेबाज ने 2012 के बाद से कई बार उनका सामना किया है लेकिन 118 गेंदों में केवल तीन बार ही आउट हुए हैं।

इससे पहले, रोहित ने 30 अगस्त से शुरू होने वाले आगामी 2023 एशिया कप में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान का सामना करने के बारे में खुलकर बात की थी। 36 वर्षीय खिलाड़ी ने पाकिस्तान का सामना करने की चुनौतियों को स्वीकार किया, उनके खिलाफ जीत हासिल करने और खुद मैचों में शामिल होने में आने वाली कठिनाइयों पर प्रकाश डाला।

स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए, उन्होंने इन मुकाबलों से निपटने के लिए अपनी टीम की ओर से आवश्यक और पर्याप्त प्रयासों पर जोर दिया। शर्मा ने कहा, “जब आप पाकिस्तान के खिलाफ खेलते हैं, तो यह हमेशा चुनौतीपूर्ण होता है, उन्हें हराना और उनके खिलाफ खेलना, हमें बहुत कुछ करना पड़ता है।”

शर्मा ने वीडियो में अन्य सवालों के भी जवाब दिए, जैसे कि उनकी पसंदीदा विश्व कप जीत (1983 या 2011), लेकिन भारत के कप्तान ने स्पष्ट जवाब देने से इनकार कर दिया और कहा कि यह एक कठिन सवाल था और वह दोनों को चुनेंगे। जब उनसे कवर ड्राइव और पुल शॉट में से पसंदीदा शॉट के बीच चयन करने के लिए कहा गया, तो 36 वर्षीय ने ‘पुल शॉट’ कहने में संकोच नहीं किया।