दक्षिण अफ्रीका के Quinton de Kock विश्व कप के बाद वनडे से संन्यास लेंगे

quinton de kock
2013 में अपना वनडे डेब्यू करने के बाद, क्विंटन डी कॉक (Quinton de Kock) ने अब तक 140 मैचों में दक्षिण अफ्रीका का प्रतिनिधित्व किया है।

दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर-बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक (Quinton de Kock) ने विश्व कप के अंत में 50 ओवर के प्रारूप से संन्यास लेने का फैसला किया है। क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) ने मंगलवार (5 सितम्बर) को अपनी टीम विश्व कप घोषणा विज्ञप्ति में डी कॉक के संन्यास लेने की पुष्टि की।

2013 में अपना वनडे डेब्यू करने के बाद, क्विंटन डी कॉक (Quinton de Kock) ने अब तक 140 मैचों में दक्षिण अफ्रीका का प्रतिनिधित्व किया है। डी कॉक ने मैचों में 44.85 की औसत और 96.08 की स्ट्राइक रेट से ५,966 रन बनाए हैं। उन्होंने 17 शतक और 29 अर्द्धशतक मारी हैं हैं, जिसमें 178 का उच्च स्कोर है जो 2016 में सेंचुरियन में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आया था।एक विकेटकीपर के रूप में डी कॉक ने 183 कैच और 14 स्टंपिंग भी की है।

इस 30 वर्षीय खिलाड़ी ने क्रिकेट विश्व कप के पिछले दो संस्करणों में दक्षिण अफ्रीका टीम का प्रतिनिधित्व किया, जहां उन्होंने 17 मैचों में 30 की औसत से 450 रन बनाए। डी कॉक ने आठ वनडे मैचों में दक्षिण अफ्रीका की कप्तानी भी की, जिनमें से उन्होंने चार जीते और तीन हारे।

बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक (Quinton de Kock) के वनडे से संन्यास लेने के फैसले पर टिप्पणी करते हुए दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट निदेशक एनोक नक्वे ने कहा, “क्विंटन डी कॉक दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट के लिए वास्तव में एक अच्छे सेवक रहे हैं। उन्होंने अपनी आक्रामक बल्लेबाजी शैली से मानक स्थापित किए और कई वर्षों तक टीम के प्रमुख सदस्य रहे। उन्होंने कप्तान का आर्मबैंड भी पहना था और यह एक ऐसा सम्मान है जिसे बहुत कम लोग संभाल पाते हैं।”

“हम एकदिवसीय क्रिकेट से संन्यास के उनके फैसले को समझते हैं और हम वर्षों से उनकी सेवा के लिए उन्हें धन्यवाद देना चाहते हैं। हम उनके भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हैं लेकिन फिर भी उन्हें टी20आई क्रिकेट में प्रोटियाज़ का प्रतिनिधित्व करते देखने के लिए उत्सुक हैं,” उन्होंने आगे कहा।

दक्षिण अफ्रीका अपने वनडे विश्व कप अभियान की शुरुआत 7 अक्टूबर को दिल्ली में श्रीलंका के खिलाफ करेगा।