शाहीन पर नज़रें, लेकिन गावस्कर ने Team India के लिए इस पाकिस्तानी को बताया असली ख़तरा

Naseem Shah against team india
भारत पल्लेकेपर ले में 266 रन बनाकर आल आउट हो गयी थी लेकिन Team India प्रबंधन को अपने शीर्ष क्रम की विफलता ने काफी चिंता में डाल दिया।

टीम इंडिया (Team India) रविवार (10 सितम्बर) को एशिया कप सुपर 4 चरण में श्रीलंका के कोलंबो में पाकिस्तान के साथ बहुप्रतीक्षित मुकाबले की तैयारी कर रही है । ग्रुप चरण के दौरान पहले दोनों टीमों के बीच आमना-सामना हुआ था, लेकिन पल्लेकेले (कैंडी, श्रीलंका) में बारिश के कारण मैच रद्द कर दिया गया था।

भारत के पूरी टीम 266 रन बनाकर आल आउट हो गयी थी लेकिन मैच ने टीम इंडिया (Team India) प्रबंधन को अपने शीर्ष क्रम की विफलता ने काफी चिंता में डाल दिया। रोहित शर्मा और विराट कोहली को बाएं हाथ के पेसर शाहीन शाह अफरीदी ने आउट कर भारत को 66/4 ला दिए था, जबकि साथी तेज गेंदबाज नसीम शाह और हारिस राउफ ने भी भारतीय बल्लेबाजों के लिए मुश्किल खड़ी की थी।

हालाँकि, हार्दिक पंड्या की 87 रनों की पारी और ईशान किशन के शानदार 82 रन ने भारत को शुरुआती झटकों से उबरने में मदद की और टीम 266 रन तक पहुंच गयी। पाकिस्तान के गेंदबाजों में शाहीन शाह अफरीदी ने शानदार प्रदर्शन किया और 4/35 के प्रभावशाली आंकड़े दर्ज किए। ज़्यादा नज़रें अफरीदी पर थी लेकिन अन्य पाकिस्तानी तेज़ गेंदबाज़ों ने भी शानदार प्रदर्शन किया था और भारत के सभी विकेट पेसर्स के ही कहते में गए थे।

भारत के पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने अफरीदी के अलावा नसीम शाह की गेंदबाज़ी के खतरे से टीम इंडिया (Team India) को आगाह किया है। गावस्कर ने बताया कि नसीम शाह ने अपने शुरुआती स्पैल में शानदार प्रदर्शन किया और शुभमन गिल के लिए समस्याएं पैदा कीं। उन्होंने जोर देकर कहा कि नसीम की आउट-स्विंगर्स घातक हैं और भारतीय बल्लेबाजों के लिए मुश्किलें पैदा करेंगी।

“अगर आपने उन 10 ओवरों को देखा, तो आपने देखा होगा कि नसीम शाह ने किस तरह से गेंदबाजी की थी। उनके आउट-स्विंगर शानदार थे, उन्हें खेलना काफी मुश्किल था। शाहीन अफरीदी ने रोहित शर्मा और विराट कोहली के दो विकेट जरूर लिए , इसलिए फोकस उन्हीं पर था। लेकिन नसीम ने जिस तरह से गेंदबाजी की, वह शानदार थी,” गावस्कर ने स्पोर्ट्स तक और सामा टीवी के संयुक्त प्रसारण में कहा।

“अगर बल्लेबाज दूसरे छोर पर आउट होते रहते हैं, तो टिके रहना महत्वपूर्ण है। शुभमन अभी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में नहीं हैं, इसलिए वह जानते हैं कि उन्हें जिम्मेदारी लेनी होगी। आख़िरकार यह 50 ओवर का खेल था। उनके पास धीमी शुरुआत की भरपाई करने के लिए शॉट्स हैं। मुझे लगता है कि इसीलिए वह सतर्क था और थोड़ा घबराया हुआ था। लेकिन नसीम शाह ने शुभमन गिल को चुप रखा, ”गावस्कर ने आगे कहा।