पाकिस्तानी क्रिकेट टीम को World Cup 2023 के लिए भारतीय वीजा मिला

World Cup 2023 के वीजा के लिए सोमवार शाम तक इंतजार करने के बाद, पीसीबी ने देरी के बारे में आईसीसी को लिखा था।

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम को वर्ल्ड कप 2023 (World Cup 2023) के लिए सोमवार (25 सितंबर) देर शाम भारतीय वीजा मिल गया। पाकिस्तानी खिलाड़ियों, कोचिंग स्टाफ और अन्य अधिकारीयों को वीजा उनके हैदराबाद (भारत) रवाना होने में 48 घंटे से भी कम समय बचे रहने पर मिला।

यह सब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) द्वारा अहमदाबाद में 5 अक्टूबर से शुरू होने वाले विश्व कप 2023 (World Cup 2023) लिए भारतीय वीजा मिलने में देरी के बारे में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को कड़े शब्दों में पत्र लिखने के कुछ घंटों बाद हुआ।

बाबर आजम की अगुवाई वाली पाकिस्तान टीम अब बुधवार (27 सितंबर) सुबह लाहौर से दुबई के लिए रवाना होगी और फिर वहां से दोपहर में हैदराबाद के लिए उड़ान भरेगी। पाकिस्तान को 29 सितंबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप से पहले अपना अभ्यास मैच खेलना है।

अपने मूल कार्यक्रम के अनुसार, पाकिस्तान टीम को हैदराबाद के लिए उड़ान भरने से पहले सोमवार और मंगलवार को दुबई में दो दिवसीय शिविर लगाना था। हालाँकि, भारतीय वीजा में देरी के कारण पीसीबी को अपना बूट कैंप रद्द करना पड़ा और बुधवार के लिए अपनी उड़ानें पुनर्निर्धारित करनी पड़ीं।

वीजा के लिए सोमवार शाम तक इंतजार करने के बाद, पीसीबी ने देरी के बारे में आईसीसी को लिखा। इसके कुछ घंटों बाद इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग ने भारतीय समयानुसार रात 8 बजे के आसपास पाकिस्तानी टीम को वीजा दे दिया।

वीजा मिलने में देरी की ओर इशारा करते हुए, पीसीबी ने कहा: “आईसीसी विश्व कप के लिए पाकिस्तान टीम के लिए मंजूरी मिलने और भारतीय वीजा हासिल करने में असाधारण देरी हुई है। हमने आईसीसी को पत्र लिखकर पाकिस्तान के प्रति असमान व्यवहार के बारे में अपनी चिंता व्यक्त की है और उन्हें विश्व कप के प्रति उनके दायित्वों की याद दिलाई है।

“यह निराशा की बात है कि पाकिस्तान टीम को एक बड़े टूर्नामेंट से पहले अनिश्चितता से गुजरना पड़ रहा है। हम पिछले तीन वर्षों से उन्हें उनके दायित्वों के बारे में याद दिला रहे हैं और यह सब 29 सितंबर को होने वाले हमारे पहले अभ्यास खेल के साथ पिछले दो दिनों में आ गया है। हमें टीम अभ्यास आयोजित करने की अपनी मूल योजना को रद्द करने के लिए मजबूर होना पड़ा, अपनी योजना पर फिर से काम करना पड़ा और नई उड़ानें बुक करनी पड़ीं, लेकिन ये योजनाएं वीजा जारी करने पर हीं लागू होंगी।

पीसीबी के प्रवक्ता उमर फारूक ने वीजा प्राप्त करने के लिए अपनाई गई प्रक्रिया का विवरण भी साझा किया। “हमने 18 अगस्त को भारतीय वीज़ा आवेदन के लिए पहले बैच के पासपोर्ट विवरण आईसीसी को भेज दिए हैं। आईसीसी ने 28 अगस्त को वीजा आमंत्रण पत्र भेजा था। 15 सितंबर को एशिया कप से टीम की वापसी के बाद, हमने 19 सितंबर को भारतीय उच्चायोग, इस्लामाबाद में पासपोर्ट के साथ वीजा आवेदन जमा किए।”