Babar Azam की चेतावनी, ‘पाकिस्तान की नेपाल पर जीत भारत के खिलाफ अच्छी तैयारी’

नेपाल के खिलाफ 28 वर्षीय बाबर आज़म (Babar Azam) की 151 रन की पारी एशिया कप के इतिहास में दूसरा सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर है।

पाकिस्तान ने अपने एशिया कप 2023 के अभियान की बुधवार को नेपाल को पटखनी देने की साथ धमाकेदार शुरुआत कि। पाकिस्तानी कप्तान बाबर आज़म (Babar Azam) को उनके 151 रनों कि पारी, जिसके बदौलत मेज़बान टीम ने नेपाल को 238 रन के विशाल अंतर से हराया, के लिए प्लेयर ऑफ़ थे मैच चुना गया और उन्होंने खेल के बाद भारत के चेतवानी भी दे दी। पाकिस्तान का अगला मुक़ाबला भारत के साथ कैंडी (श्रीलंका) के पल्लेकेले इंटरनेशनल स्टेडियम में 2 सितम्बर को है।

पावर-हिटर इफ्तिखार अहमद के साथ मिलकर, बाबर आज़म (Babar Azam) ने 50 ओवर के प्रारूप में कई रिकॉर्ड तोड़ने के लिए अपना 19 वां एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (ODI) शतक बनाया। बाबर वनडे में सबसे तेज 19 शतक बनाने वाले बल्लेबाज़ों कि लिस्ट में सबसे ऊपर आ गए। पाकिस्तान को आसान जीत दिलाने के बाद, बाबर ने स्वीकार किया कि इस बड़ी जीत ने उनकी टीम को भारत के साथ आगामी मुकाबले के लिए पर्याप्त आत्मविश्वास दिया है।

“यह मैच भारत के खिलाफ मैच के लिए अच्छी तैयारी थी क्योंकि इससे हमें आत्मविश्वास मिला। हम हर मैच में 100 प्रतिशत देना चाहते हैं, उम्मीद है कि वहां भी (भारत के ख़िलाफ़) ऐसा करेंगे,” बाबर आज़म (Babar Azam) ने मैच के बाद कहा।

बाबर और इफ्तिखार ने 131 गेंदों पर 214 रनों की मैच विजयी साझेदारी दर्ज की और नेपाली गेंदबाज़ी कि कमर तोड़ दी। दोनों ने 50 ओवर के प्रारूप में पाकिस्तान के लिए पांचवें विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी दर्ज की और 2009 में श्रीलंका के खिलाफ पाकिस्तान के लिए उमर अकमल और यूनिस खान की 176 रन की साझेदारी को पीछे छोड़ दिया।

क्रिकेट जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

नेपाल के खिलाफ बाबर की 151 रन की पारी एशिया कप के इतिहास में दूसरा सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर है। 28 वर्षीय बाबर आज़म (Babar Azam) एशिया कप में 150 से अधिक का स्कोर दर्ज करने वाले पहले कप्तान भी हैं। पाकिस्तानी कप्तान ने बड़ी उपलब्धि हासिल करते हुए बांग्लादेश के खिलाफ विराट कोहली के 136 रन को पीछे छोड़ दिया है। बाबर से पहले, किसी भी पाकिस्तानी कप्तान ने वनडे क्रिकेट में 150 से अधिक का स्कोर नहीं बनाया था।

“जब मैं पिच पर गया, तो गेंद ठीक से नहीं आ रही थी, इसलिए मैं (मोहम्मद) रिज़वान के साथ एक पारी बनाने की कोशिश कर रहा था। फिर हमारे पास एक अलग दौर था, कभी रिज़वान ने मुझे विश्वास दिलाया, और कभी मैंने उसे विश्वास दिया। इफ्तिखार ने भी आते ही शानदार पारी खेली। जब वह आया तो मैंने उसे अपना स्वाभाविक खेल खेलने के लिए कहा और 2-3 चौकों के बाद वह सहज हो गया। कुछ ओवरों में हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके, लेकिन जिस तरह से हमारे तेज गेंदबाजों ने शुरुआत की और फिर स्पिनरों ने शानदार प्रदर्शन किया,” बाबर आज़म (Babar Azam) ने कहा।